Monthly Archives: March 2016

रंग सुनहरे होली के..💦

होली..!! किसी के लिए हुड़दंग और किसी के लिए..मस्ती भरा त्यौहार!! वैदिक काल से हम इस त्यौहार को मनाते आये हैं। बेशक आज हमारे समाज के एक बड़े वर्ग ने इस त्यौहार से थोड़ी सी दूरी बना ली है जिसके … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

अहसास ऐ ज़िन्दगी

छाँव में रख के ही पूजा करो मोम के बुत धूप में अच्छे भले नक़्श बिगड़ जाते हैं दायरों को बंधन समझकर रस्ते न बदल देना भटकते वहीँ हैं जो खुद से दूर निकल जाते हैं गैर भी बन जाते … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

अहसास ऐ ज़िन्दगी

छाँव में रख के ही पूजा करो मोम के बुत धूप में अच्छे भले नक़्श बिगड़ जाते हैं दायरों को बंधन समझकर रस्ते न बदल देना भटकते वहीँ हैं जो खुद से दूर निकल जाते हैं गैर भी बन जाते … Continue reading

Posted in Uncategorized | 1 Comment

अपने रंगों के साथ न्याय कीजिये ! 🎨

प्रकृति ने अजब सुहाने रंग बिखेरे हैं। कुछ वो जो कुदरत स्वयं ओढ़े बैठी है और कुछ वो, जो मानव फितरत में समाये रहते हैं। रंग जो हिना की तरह शनै शनै गहराते हैं। वे रंग जो यूँ ही छूटते … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

श्री रविशंकर जी का दिल्ली आयोजन- मेरे नजरिये से !!

बीती 11, 12, और 13 मार्च को दिल्ली की यमुना नदी के फैले हुए कछार (पाट) में बैंगलौर के आर्ट ऑफ़ लिविंग के प्रणेता श्री श्री रवि शंकर द्वारा आयोजित सांस्कृतिक आयोजन समाप्त हुआ। आर्ट ऑफ़ लिविंग संस्था सशुल्क सामाजिक … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

आरक्षण की आग- हरियाणा

आज NEWS WORLD INDIA समाचार चैनल देख रहा था। उस पर आरक्षण की आग में भेंट हुए हरियाणा के कई शहरों का आँखों देखा हाल बताया जा रहा था। एक शहर जो कि 72 घंटों तक भीड़ और अराजकता के … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment